26.8 C
Dehradun
Thursday, September 29, 2022

जगदीश बहुगुणा ‘जेपी’

हिन्दी कहानी: कटखनी बंदरिया

कटखनी बन्दरिया से मेरी जन्म जात दुश्मनी थी उससे मेरी जन्म से ही नहीं बनती थी। जहां भी मुलाकात होती निश्चित रूप से झगड़ा...

खोटा सिक्का – हिन्दी कहानी

रघुनाथ सीधा सच्चा आदमी था। परन्तु किस्मत को क्या कहें- किस्मत से उसे ऐसी पत्नी मिली थी जो अपने अनुसार अत्यन्त पतिव्रता सुधड़ व...

सबक – हिन्दी कहानी

उसने फिर शरारत कर डाली। वह बचपन से ही तेज है दुष्ट है दुष्ट है किसी दिन नाक कट वायेगी सारे गांव की, लड़की है या तूफान बाप...

कुश्ती – हिन्दी कहानी

शिवालिक की उपत्यकाओं में बसा हुआ गांव गोंताली पहलवान भीमा के कारण प्रसिद्ध हो चुका था भीमा बहुत हट्टा कट्टा दीर्धाकार मूल रूप से...

बारात – हिन्दी कहानी

बारात पहाड़ी ऊबड़-खाबड़ रास्तों से बढ़ती हुई आगे बढ़ रही थी। गब्दू साहूकार अपने लड़के भीकम की बारात के लिए पैंतीस चालीस आदमी ही...

बुद्धं शरणं गच्छामि – हिन्दी कहानी

शिक्षित बेरोजगार युवकों की भीड़ से जुड़कर सरकार विरोधी अभियानों में सम्मिलित होना, धर्मा को रास नहीं आया। उसे लगा कि रोजाना के धरना...

मखराम शर्मा (हास्य)

किसी बच्चे का नाम रखने के लिये पंडित को कितनी कठिनाई उठानी पड़ती है यह पंडित ही बता सकता है। सत्ताईस नक्षत्र, बारह राशि,...

आत्म समर्पण (हास्य)

निःसंदेह बूढ़े की बात और आंवले की मिठास का अनुभव देर से ही होता है। उस दिन जब पिता जी ने कहा था कि...

Latest Articles

खतरों की आहट – हिंदी व्यंग्य

कहते हैं भीड़ में बुद्धि नहीं होती। जनता जब सड़क पर उतर कर भीड़ बन जाये तो उसकी रही सही बुद्धि भी चली जाती...

नतमस्तक – हिंदी व्यंग्य

अपनी सरकारों की चुस्त कार्यप्रणाली को देख कर एक विज्ञापन की याद आ जाती है, जिसमें बिस्किट के स्वाद में तल्लीन एक कम्पनी मालिक...

कुम्भ महापर्व 2021 हरिद्वार

कुंभ महापर्व भारत की समग्र संस्कृति एवं सभ्यता का अनुपम दृश्य है। यह मानव समुदाय का प्रवाह विशेष है। कुंभ का अभिप्राय अमृत कुंभ...

तक्र (मट्ठे) के गुण, छाछ के फायदे

निरोगता रखने वाले खाद्य-पेय पदार्थों में तक्र (मट्ठा) कितना उपयोगी है इसको सभी जानते हैं। यह स्वादिष्ट, सुपाच्य, बल, ओज को बढ़ाने वाला एवं...

महा औषधि पंचगव्य

‘धर्मार्थ काममोक्षणामारोण्यं मूलमुन्तमम्’ इस शास्त्रोक्त कथन के अनुसार धर्म, अर्थ, काम, मोक्ष हेतु आरोग्य सम्पन्न शरीर की आवश्यकता होती है। पंचगव्य एक ऐसा...