22.2 C
Dehradun
Wednesday, May 25, 2022
Home कहानियां

कहानियां

हिन्दी कहानी: कटखनी बंदरिया

कटखनी बन्दरिया से मेरी जन्म जात दुश्मनी थी उससे मेरी जन्म से ही नहीं बनती थी। जहां भी मुलाकात होती निश्चित रूप से झगड़ा...

खोटा सिक्का – हिन्दी कहानी

रघुनाथ सीधा सच्चा आदमी था। परन्तु किस्मत को क्या कहें- किस्मत से उसे ऐसी पत्नी मिली थी जो अपने अनुसार अत्यन्त पतिव्रता सुधड़ व...

सबक – हिन्दी कहानी

उसने फिर शरारत कर डाली। वह बचपन से ही तेज है दुष्ट है दुष्ट है किसी दिन नाक कट वायेगी सारे गांव की, लड़की है या तूफान बाप...

कुश्ती – हिन्दी कहानी

शिवालिक की उपत्यकाओं में बसा हुआ गांव गोंताली पहलवान भीमा के कारण प्रसिद्ध हो चुका था भीमा बहुत हट्टा कट्टा दीर्धाकार मूल रूप से...

बारात – हिन्दी कहानी

बारात पहाड़ी ऊबड़-खाबड़ रास्तों से बढ़ती हुई आगे बढ़ रही थी। गब्दू साहूकार अपने लड़के भीकम की बारात के लिए पैंतीस चालीस आदमी ही...

सम्मोहन का त्याग – हिन्दी कहानी

सुरेशी जीवन के थपेड़ों को सहते हुए परिवार का बोझ अकेले ही ढोती चल रही थी, पहाड़ सी भरी जिन्दगी की गाड़ी को खींच...

बुद्धं शरणं गच्छामि – हिन्दी कहानी

शिक्षित बेरोजगार युवकों की भीड़ से जुड़कर सरकार विरोधी अभियानों में सम्मिलित होना, धर्मा को रास नहीं आया। उसे लगा कि रोजाना के धरना...

मखराम शर्मा (हास्य)

किसी बच्चे का नाम रखने के लिये पंडित को कितनी कठिनाई उठानी पड़ती है यह पंडित ही बता सकता है। सत्ताईस नक्षत्र, बारह राशि,...

आत्म समर्पण (हास्य)

निःसंदेह बूढ़े की बात और आंवले की मिठास का अनुभव देर से ही होता है। उस दिन जब पिता जी ने कहा था कि...

वरदान – हिंदी कहानी

नारी से लोहा लेना पुरुष के बस की बात नहीं। ’’भारती ने जब एक बार ठान ली कि ग्रामीण क्षेत्र में नहीं रहना है,...

वन-वे-ट्रैफिक – हिंदी कहानी

हम उस देश के वासी हैं,जो अनेकता में एकता की बेमिसाल मिसाल है। हम भारत वासी एकजुट होकर रहना जानते हैं, इसलिए हमारे ब्लाक...

दोष किसका – हिन्दी कहानी

मां-बाप ने बड़े चाव से उसका नाम चन्द्रा रखा था। वह थी भी चांद की तरह सुन्दर। जो भी उसे एक बार देख लेता...

Recent Stories